भारत के चुनिंदा स्टेशनों के लिए साप्ताहिक वर्षा प्रसंभाव्यता (खण्ड । तथा ।।)

प्रकाशन पर वापस

यह प्रकाशन भारत में साप्ताहिक वर्षा के प्रसंभाव्यता विश्लेषण से संबंधित है तथा योजनाकर्ताओं, जल विज्ञानियों, कृषि प्रशासकों, पादप प्रजनकों, शस्य-विज्ञानियों और किसानों को अधिकतम कृषि उत्पादन के लिए फसल अनुकूलन, पादप प्रजनन, अनावृष्टि प्रबंध, सिंचन योजना एवं वर्षा जल प्रयोग से संबंधित नीतियां बनाने के लिए उपयोगी है । इसीलिए, कुशल योजना के लिए, अनुसंधान कार्यकर्ताओं, किसानों तथा योजनाकर्ता, विभिन्न प्रसंभाव्यता स्तरों पर मात्रात्मक वर्षा, जिसे आश्वासित वर्षा कहते हैं, से अर्थपूर्णतया लाभान्वित हो सकते हैं ।

यह प्रकाशन इस दिशा में प्रयत्न को प्रस्तुत करता है तथा भारत में वर्षा के प्रसंभाव्यात्मक विश्लेषण के साथ व्यवहार करता है । अध्ययन का उद्देश्य विभिन्न दशमक स्तरों पर आश्वासित वर्षा मात्रा को परिकलित करना है । यह योजनाकर्ताओं, जल विज्ञानियों, कृषि प्रशासकों, पादप प्रजनकों, शस्य-विज्ञानियों तथा किसानों को अधिकतम कृषि उत्पादन के लिए फसल अनुकूलन, पादप प्रजनन, अनावृष्टि प्रबंध, सिंचन योजना एवं वर्षा जल उपयोग से संबंधित नितियां बनाने के लिए उपयोगी है ।

इस प्रकाशन में, विभिन्न वर्षा क्षेत्रों में फैले 1950 तालुका स्तर स्टेशनों की साप्ताहिक आश्वासित वर्षा को सारणी रुप में प्रस्तुत किया है । प्रत्येक सारणी औसत साप्ताहिक वर्षा, सप्ताह में अधिकतम एवं न्यूनतम वर्षा तथा 30, 40, 50, 60 और 70 प्रतिशत प्रसंभाव्यता स्तरों पर आश्वासित वर्षा से संबंधित जानकारी देती है । यह दो खण्डों में प्रकाशित है । प्रथम खण्ड में आँध्र प्रदेश, गुजरात, कर्नाटक, केरल, महाराष्ट्र, राजस्थान और तमिलनाडू के स्टेशन सम्मिलित है तथा दूसरे खण्ड में बिहार, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश, जम्मू और कश्मीर, मध्य प्रदेश, उडीसा, पंजाब, उत्तर प्रदेश, पश्चिम बंगाल तथा उत्तरी क्षेत्र के राज्य सम्मिलित है ।