कृषि जलवायवी वेधशालाओं के सामान्य मूल्य

प्रकाशन पर वापस

इसमें विभिन्न स्टेशनों पर प्रमुख कृषि जलवायवी घटकों उदाहरण वर्षा, अधिकतम और न्यूनतम तापमान, आर्द्रता (0700 तथा 1400 एल.एम.टी.), धूप घण्टे, विभिन्न गहराइयों पर मृदा तापमान जो फसल संवृद्धि और उपज प्रभावित करता है , के लिए और साप्ताहिक आंकड़ें निहित है । यह योजनाकर्ताओं, पादप प्रजनकों तथा अनुसंधान कर्मियों के लिए उपयोगी है । पादप प्रजनकों एवं योजनाकर्ताओं को जहां तक संभव है बडे क्षेत्र से कृषि जलवायवी जानकारी आवश्यक होती है ।

इस दिशा में प्रभाग द्वारा पहला कदम उठाया गया जब 1978 में भारत का कृषि जलवायविक एटलस प्रकाशित किया गया । इसमें दी गई जानकारी मासिक आधार पर है तथा अधिकतर मानचित्रों के रुप में है । वर्तमान प्रकाशन में प्रमुख कृषि जलवायवी घटकों के मासिक आंकड़ें दिए है जो फसल संवृद्धि और उपज को प्रभावित करते हैं । प्रकाशन में संवितरित 106 स्टेशनों के आंकड़ें है तथा 1951 से 1980 के आंकड़ों पर आधारित है । 5 वर्षों से कम आंकड़ों वाले स्टेशनों को छोडा गया है जबकि 6 से 10 वर्षों वालों का लघु अवधि औसत दिया गया है । वर्षा, अधिकतम, न्यूनतम तथा दूब न्यूनतम तापमानों, धूप और पवन गति, प्रत्येक दिन 0830 बजे आई एस टी पर रिकार्ड किए प्रेक्षणों पर आधारित है । सापेक्ष आर्द्रता तथा मृदा तापमानों को प्रतिदिन स्थानिय माध्य समय 0700 और 1400 बजे रिकार्ड किया गया है ।